Wednesday, August 31, 2016

राखी सावंत के जूली बनने की कहानी

आइटम गर्ल के रूप में मशहूर अभिनेत्री राखी सावंत इन दिनों काफी उत्साहित हैं। उनके इस उत्साह की वजह यह है कि वह अब आइटम गर्ल की बजाय फिल्म ‘एक कहानी जूली की’ में हिरोईन बनकर आ रही हैं। इस फिल्म के जरिये राखी सावंत इसी 9 सितंबर को कटरीना कैफ की फिल्म ‘बार बार देखो’ को टक्कर देने जा रही हैं। राखी सावंत को लग रहा है कि ‘फितूर’ और ‘फैंटम’ जैसी फिल्मों की असफलता के चलते वह कटरीना कैफ की फिल्म ‘बार बार देखो’ को पछाड़ देंगी। ध्यान रहे कि अवध शर्मा निर्मित फिल्म ‘एक कहानी जूली की’ शीना मर्डर कांड पर आधारित है।  इसमें राखी सावंत ने इंद्राणी मुखर्जी का किरदार निभाया है। एक खास मुलाकात में राखी सावंत ने कहा, ‘‘9 सितंबर को मेरी फिल्म ‘एक कहानी जूली की’ के साथ ही कटरीना कैफ की फिल्म ‘बार बार देखो’ रिलीज होने वाली है। तो मैं भी कटरीना कैफ को जबदस्त टक्कर देना चाहती हूं।’’
राखी सावंत ने आइटम गर्ल से फिल्म की हीरोइन बनने का इरादा कैसे बनाया ! बताती हैं राखी सावंत, ‘‘शाहरुख खान, कपिल शर्मा, गोविंदा, टीवी कलाकार, क्रिकेटर, सभी सोशल मीडिया पर मुझे और मेरी फिल्म को सपोर्ट कर रहे हैं। क्योंकि, यह लोग खुश हैं कि मैं पहली बार ‘आइटम गर्ल’ से उपर उठकर किसी फिल्म में हिरोइन बनकर आ रही हूं। कभी कभी मुझे लगता है कि मेरा बहुत बड़ा सपना पूरा हुआ है, तो कभी कभी लगता है कि मैं तो हिरोइन बनने के काबिल ही नहीं हूं। लेकिन इन दिनों बॉलीवुड में इतनी आड़ी टेढ़ी हिरोइनें आ रही हैं कि मुझे भी लगा कि अब मुझे भी ‘आइटम गर्ल’ की बजाय हिरोइन बनना चाहिए। ऐसे में जैसे ही मुझे अवध शर्मा ने फिल्म ‘एक कहानी जूली की’ में हिरोईन बनने का ऑफर दिया, मैंने तुरंत लपक लिया।’’ 

राजेंद्र कांडपाल 

Carnival Motion Pictures join hands with Sanjay Raut to co-produce Thackeray

From his humble beginnings as a cartoonist with The Free Press Journal to grow to emerge as a supreme political leader the first voice ...